सोने से पहले पढ ले रामायण की यह चौपाई, 10 दिन के अंदर ही बन पाएंगे करोडपति !!

155

नमस्कार दोस्तों…आप तो जानते ही होंगे कि आज की प्रतिस्पर्धा से भरी जिंदगी में जीवन काटना एक लंग लडने जैसा है। पैसा कमाने के लिए व्यक्ति को बहुत ज्यादा मशक्कत करनी पडती है। लेकिन फिर भी कुछ लोग जीवन में सफल नहीं हो पाते है।

 

आज के इस जीवन में हर व्यक्ति सफल होने के लिए अपना शत प्रतिशत देता है। फिर भी वह आगे नहीं बढ पाता है। कभी कभी ऐसा भी होता है कि हम अत्याधिक मेहनत करते है।

फिर भी अनुरुप फल नहीं मिल पाता। आज हम इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि कैसे आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करें। हमारे इस उपाय को करने से आपको जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाएंगी औऱ आप आगे भी बढेंगे।

आज हम आप को जो बताने जा रहे है। उससे आप बहुत ही उन्नति करेंगे। आज के जमाने में इज्जत उसी की होती है। जिसके पास पैसा होता है। पैसा नहीं तो कुछ भी नहीं। पैसे से आपकी सारी जरुरतें पूरी होती है। पैसा सुखमय जीवन का आधार का माना जाता है।

कई लोग पूरे दिन रात मेहनत करके भी दुखी रहते है। आज के हमारे विशेष आर्टिकल में हम आप को बताएंगे रामायण की एक ऐसी चौपाई के बारे में। जिस से आप की उन्नति दिन दोगुनी और रात चोगुनी हो जाएगी। इसका जाप करके आप करोडपति भी बन सकते है।

हिन्दुओं के पवित्र ग्रंथ रामायण के बारे में सभी जानते ही होंगे। रामायण हमें हमारे जीवन के आदर्शो पर चलने के लिए प्रेरित करती है। साथ ही साथ रामायण से हमें अपनी मर्यादाओं में रहने की भी सीख मिलती है।

आप को बता दें कि बाल्मीकि कृत रामायण में एक ऐसी चोपाई है। जिसको जपने मात्र से ही मनुष्य का कल्याण हो जाता है। इसका नियमित जाप करने से करोडपति बन सकते है। इस चोपाई को पढने से सारे कष्ट दूर हो जाएंगे। इसमें एक बात का विशेष ध्यान रखना है कि इसे नियमित सोने से पहले पढना है। और अगर आप ऐसा करेंगे तो आपका जीवन सुखयमय हो जाएगा।

मित्रौ जिस चोपाई के बारे में हम बात कर रहे है वो चोपाई ये है-
जो प्रभु दीनदयाला कहावा । आरति हरन बेद जस गाबा ।।
जपहि नामु जन आरत भारी । मिटहि कुसंकट होंहि सुखारि ।।
दीनदयाल बिरद संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी ।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here