ये है भारत का सबसे खतरनाक हथियार, चंद मिनटों में तबाह कर सकता है पाक-चीन जैसे कई देश !!

236

भारत के पास एक ऐसी मिसाइल है, जिसके निर्माण के समय से ही कई देश सकते में आ गए थे। भारत की मिसाइल वुमेन कहलाने वाली टेसी थॉमस के नेतृत्व में डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने इस मिसाइल को तैयार किया है।

 

भारत के सबसे ताकतवर हथियार को दुनिया इस वक्त अग्नि-5 के नाम से जानती है। पिछले महीने भारत ने अपनी इसी मिसाइल का सफल टेस्ट किया था।

आपको बता दें कि फिलहाल 5000 से 5500 किमी की दूरी तक वार करने वाली अग्नि-5 बैलिस्टिक मिसाइल, भारत की सबसे एडवांस्ड मिसाइल है। न्यूकलियर वॉरहेड ले जाने में सक्षम ये मिसाइल ऐसे ही मौत का सामान नहीं कहलाती। इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत ये है कि वैज्ञानिक पृथ्वी-5 के सिस्टम में थोड़ा-बहुत बदलाव कर इसकी मारक क्षमता को 8000 किमी तक बढ़ा सकते हैं।

पूरी तरह स्वदेशी अग्नि-5 बैलिस्टिक मिसाइल को डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक कर बनाया है। अग्नि प्रोजेक्ट की कमान संभालने वाली डीआरडीओ की महिला वैज्ञानिक और अग्नि प्रोग्राम की प्रोजेक्ट डॉयरेक्टर टेसी थॉमस की टीम ने इस मिसाइल को तैयार किया है।

अग्नि-5 को अब तक की सबसे एडवांस्ड मिसाइल माना जा रहा है। इस मिसाइल में रिंग लेसर गायरो बेस्ड इनरशियल नेविगेशन सिस्टम (रिन्स) और अत्याधुनिक आर सटीक माइक्रो नेविगेशन सिस्टम (मिंस) तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है। इससे मिसाइल को लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाने में मदद मिलती है।

इस मिसाइल का निशाना इतना सटीक है 10 से 80 मीटर के दायरे में रखे गए किसी भी लक्ष्य को कई हजार किलोमीटर दूर से बिल्कुल सटीक निशाना बना सकती है।

कैसे करती है काम
एक बार लांच होने के बाद 50,000 किलो वजनी अग्नि-5 मिसाइल सबसे पहले धरती से 100 KM की पूर्ण ऊंचाई पर पहुंचती है। उसके बाद ये मिसाइल अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ने लगती है। गुरुत्वाकर्षण की वजह से अग्नि-5 की रफ्तार और अधिक बढ़ जाती है।

टर्मिनल फेस (धरती पर लौटते) के वक्त की रफ्तार 24 मैक यानि लगभग 29,635 किमी प्रति घंटा हो जाती है। इस वजह से मिसाइल का तापमान भी 400 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच जाता है। हालांकि, इतनी गर्मी के बावजूद भी इस मिसाइल में विस्फोट नहीं होता, क्योंकि स्वदेशी कार्बन परत की मदद से मिसाइल के अंदर वारहेड का तापमान ज्यादा से ज्यादा 50 डिग्री तक ही पहुंचता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here