बोर्डर पर आज भी शहीद जवान की आत्मा देती है पहरा, मरने के बाद भी मिल रहा है सैलेरी और प्रमोशन !!

132

नमस्कार दोस्तों…आप तो जानते ही होंगे कि हमारी भारतीय सेना में जवानों की कमी नहीं है। हमारे देश में एक से एक जवान है। जो आज भी बोर्डर पर पहरा देते है।

 

हर व्यक्ति की अपनी खासियत होती है। आज हम आप को इस आर्टिकल में एक ऐसे ही जवान के बारे में बताने जा रहे है।

जिन की आत्मा आज भी भारतीय सीमाओं की सुरक्षा करती है। माना ये जाता है कि यहां जवान की आत्मा रहती है। उस जवान का नाम बाबा हरभजन सिंह है। और ये भी कहा जाता है कि न की इस भारतीय दवान को सैलेरी दी जाती है बल्कि इस का प्रमोशन भी किया जाता है।

यह बात बिल्कुल ही हैरान कर देने वाली है। लेकिन बता दें कि यही सच्चाई है। इस जनाम का सिक्किम के गंगटोक के पास मंदिर भी बनाया गया है। इस वीर जवान का नाम हरभजन सिंह है। कहा जाता है कि इस जवान की आत्मा आज भी सरहद पर देश की रक्षा करती है।

आप को जानकर हैरानी होगी लेकिन बता दें कि हरभजन के बंकर जिसे मंदिर भी कहा जाता है। भारी मात्रा में सेना के अलावा सैलानी और दर्शनार्थी भी पहुंचते है। और बाबा हरभजन से अपनी सलामती के लिए पूजा करते है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बता दें कि बाबा हरभजन सिंह 1968 में 24 पंजाब रेजीमेंट में जवान थे। ड्यूटी करते करते वह एक हादसे में शहीद हो गए थे। और उस हादसे के बाद उनका पार्थिव शरीर सेना को नही मिला।

कहा ये जाता है कि हरभजन सिंह एक दिन एक सैनिक के सपने में आए और उने शरीर के बारे में बताया। और यह बात उसने अपने सीनियर को बताई औऱ उसकी खोजबीन शुरु हो गई।

उस सैनिक ने जहां ठिकाना बताया। वहीं पर उनका पार्थिव शरीर मिला। औऱ वही उनका एक बंकर बना दिया फिर वहीं उनकी पूजा होने लगी। वहां के लोगों का मानना है कि आज भी हरभजन की आत्मा यहां के सैनिकों औऱ सरहदों की रक्षा करती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here