अब छीन जाएगी कमलनाथ की कुर्सी, शिवराज सिंह फिर बनेंगे मुखमत्री … जाने कैसे

754

नमस्कार दोस्तों…आप तो बता दें कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले कोंग्रेस ने देश के 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव जीतकर अपनी मौजूदगी होने का एहसास सभी को करवाया है। अब 3 राज्यों में कोंग्रेस अपनी सरकार बना चूकी है।

जहां मध्यप्रदेश में उसे सरकार बनाने में बेहद ही कठिनाई सामने आई। क्योंकि यहां मुख्यमंत्री के दो दावेदार थे। चूंकि कोंग्रेस का जीत का अंतर भी बेहद ही कम था। लिहाजा कोंग्रेस ने अनुभवी कमलनाथ को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया।

लेकिन जब से कोंग्रेस ने जोड तोड करके कमलनाथ को मध्यप्रदेश का सीएम बनाया है। तब से हर दिन कोंग्रेस और कमलनाथ सरकार की परीक्षा हो रही है।

आए दिन कमलनाथ सरकार के गिरने का खतरा अलग तरह से बना रहता है। कोंग्रेस की मुश्किल हो गयी थी। जब कमलनाथ ने अपने मंत्रीमंडल का गठन किया था। जिसमें मंत्री पद ना मिलने से कई विधायक नाराज चल रहे थे।

लेकिन फिलहाल एक ऐसी खबर सामने आ रही है। जिस से हर कोई हैरान है। लोग ये भी कह रहे है कि कमलनाथ सरकार कुछ दिनों की मेहमान है।

इस बात को बल और तब मिल गया जब कमलनाथ सरकार को बुरहानपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह ने चेतावनी दे डाली।

आप को जानकारी के लिए बता दें कि ठाकुर सुरेंद्र सिंह पहले कोंग्रेस में ही थे। लेकिन कोंग्रेस की नीतियों से कुपित होकर वह बुरहानपुर सीट से निर्दलीय चुनाव लडे थे।

जिस में उनको जीत हासिल हुई थी। ठाकुर सुरेंद्र सिंह को भरोसा था कि उन को मंत्री पद मिलेगा। लेकिन जब सीएम कमलनाथ ने अपने मंत्री मंडल का गठन किया तो उसमें उन का नाम ही नहीं था।

जिस से वह बेहद ही दुखी नजर आए। अपने क्षेत्र में आने के बाद उन्होंने कहा कि जिन निर्दलीय विधायकों को कमलनाथ सरकार कमजोर मान रही है। सही बात ये है कि उनके बिना कमलनाथ सरकार एक दिन भी नहीं चल सकती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here